Ricky ponting autobiography Hindi | जानिए Ricky ponting के बारे में

Ricky ponting autobiography : Doston यहाँ आज हम बात कर रहे हैं ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ki. रिकी पोंटिंग ऑस्ट्रेलिया के सबसे बड़े बल्लेबाज़ और कप्तान थे हालांकि रिकी क्रिकेट को अलविदा कह चुके hain. Magar इंटरनेट पर उनके पुराने वीडियोस देखने का आज भी मन करता hai. Duniya में रिकी की इतनी बड़ी पहचान क्रिकेट से ही बनी hai. Unhone अपने क्रिकेट को इतना निखारा जब तक क्रिकेट ने उन्हें नहीं निखार diya. Unhi के कारण क्रिकेट जगत में ऑस्ट्रेलियाई टीम का बहुत दबदबा raha. Apko बता दें कि रिकी की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया दो बार विश्व कप अपने नाम कर चुकी है।


Ricky ponting autobiography Hindi

Ricky ponting autobiography

Ricky पोंटिंग का जन्म 19 दिसंबर, 1974 को ऑस्ट्रेलिया के तस्मानिया में एक मध्यम वर्ग परिवार में hua. Unka पूरा नाम रिकी थॉमस पोंटिंग hai. Cricket जगत में लोग उन्हें पंटर नाम से भी बुलाते hain. रिकी के पिता का नाम ग्रीम पोंटिंग और माँ का नाम लोरेन पोंटिंग hai. Parivar में माता पिता के साथ रिकी का एक भाई और एक बहन भी hai. Apko बता दें कि रिकी एक स्पोर्ट्स फैमिली से ही hain. Unke पिता क्लब क्रिकेट खेलते थे और माँ स्टेट विगोरो चैंपियन थीं।

Ricky के अंकल भी ऑस्ट्रेलिया के लिए टेस्ट क्रिकेट खेल चुके hain. Unhe क्रिकेट का ज्ञान उनके पिता और अंकल से ही मिला hai. Unhone 11 वर्ष की उम्र में ही U-13 खेलते हुए क्रिकेट क्लब जॉइन kiya. Theek 14 वर्ष की उम्र में उनके अच्छे प्रदर्शन के चलते बैट बनाने वाली कंपनी “Kookaburra” ने उन्हें स्पान्सर कर liya. U-16 में भी उन्होंने अपना अच्छा प्रदर्शन दिखाया। एक नॉन-तस्मानियन स्कूल के हेड टेड रिचर्डसन ने पोंटिंग के खेल की तारीफ करते हुए उनकी तुलना डेविड बून से ki.

यह भी देखें : Virat kohli ki biography – janiye विराट कोहली की cricket history

16 की उम्र में पढाई छोड़ एक स्कूल में ग्राउंड्समैन का काम करने के साथ रिकी अपनी क्रिकेट प्रैक्टिस भी किया करते the. 1991 में एक नॉन-तस्मानियन स्कूल से मिली स्पान्सरशिप की मदद से उन्हें ऑस्ट्रलियन क्रिकेट ऐकडमी में दो हफ्ते की ट्रेनिगं करने का मौका mila. Jahan रोड मार्श नाम के एक कोच उनकी बल्लेबाज़ी को देख कर बहुत प्रभावित hue. Aur उसके चलते रिकी की दो हफ्ते की ट्रेनिंग दो साल की स्कालरशिप में बदल gayi. Rod Marsh का कहना था की मैंने इतनी छोटी उम्र में इतना अच्छा क्रिकेट खेलते किसी को नहीं देखा।


Career

1995 में रिकी को एक वन डे सीरीज़ के लिए ऑस्ट्रलियन क्रिकेट टीम में शामिल कर liya. Aur उसी सीरीज़ में रिकी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपना वन डे डेब्यू kiya. Ricky ने अपने टेस्ट डेब्यू मैच में भी अच्छा प्रदर्शन कर क्रिकेट स्टाफ को बहुत प्रभावित kiya. 1996 में उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ अपना टेस्ट का पहला शतक lagaya. Aur उसी साल उन्हें 1996 विश्व कप के लिए भी चुन लिया gaya. Magar ऑस्ट्रेलिया 1996 विश्व कप फाइनल श्रीलंका से हार गया था।

Lekin उसके बाद रिकी का नाम वन डे टीम के लिए पक्का हो गया tha. 1997 में इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच में 127 रन बना कर उन्होंने अपना नाम टेस्ट क्रिकेट में भी पक्का कर लिया tha. 1999 का विश्व कप ऑस्ट्रेलिया ने जीता जिसमें रिकी पोंटिंग का सबसे बड़ा हाथ tha. Magar 2001 में रिकी अपनी ख़राब फॉर्म से गुज़र रहे थे, उस साल वे अपनी टीम को कुछ ख़ास करके नहीं दे पाए the. 2002 में रिकी ने कड़ी महनत कर अपनी टीम को इंग्लैंड के खिलाफ जीत हांसिल karayi. 2002 में रिकी वन डे टीम के कप्तान बने जिसके बाद उन्होंने अपनी टीम के साथ शानदार प्रदर्शन करते हुए 2003 का विश्व कप भी jeeta. Ricky को ऑस्ट्रेलियन टीम का अब तक का सबसे सफल कप्तान भी माना जाता है।


Ricky ponting captaincy record

2003 से रिकी के पास एक बेहतरीन टीम थी जिसमे एडम गिलक्रिस्ट, मैथ्यू हेडेन जैसे महान खिलाड़ी the. 2006 में रिकी ने ऑस्ट्रेलिया को चैंपियन ट्रॉफी का हकदार भी banaya. Uss समय ऑस्ट्रलियन टीम का जज़्बा सर चढ़ कर बोल रहा tha. Ricky की कप्तानी में सन 2007 का विश्व कप भी ऑस्ट्रेलिया ने अपने नाम kiya. 2012 में रिकी पोंटिंग ने क्रिकेट को अलविदा कह diya. Unke रिकार्ड्स की बात करें तो बतौर कप्तान वे ऑस्ट्रेलिया के सबसे ज़्यादा रन और शतक बनाने वाले खिलाड़ी हैं।

रिकी बताते हैं कि “जब मैं खेलता हूँ तो मुझे खिलाड़ी नहीं उनके बीच बॉउंड्री तक जाने वाली जगह नज़र आती है” उनकी इस बात से हमें यह सीखने को मिलता है कि हमें जीवन में अपनी परेशानियों के बारे में सोचने की जगह उनका हल निकालने के बारे में सोचना चाहिए।

दोस्तों मैं आशा करता हूँ कि आपको हमारी यह post “Ricky ponting autobiography” पसंद आयी होगी। हम आगे भी आपके लिए ऐसी अच्छी अच्छी Biography लाते रहेंगे। इस post से related अपना सुझाव हमें Comment करके ज़रूर बताएं।

और देखें

1 thought on “Ricky ponting autobiography Hindi | जानिए Ricky ponting के बारे में”

  1. Pingback: Brendon mccullum biography Hindi | Cricket History of BAZZ

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
error: Alert: Content is protected !!
%d bloggers like this: